जनवरी 23, 2017

तीसरी तिमाही में रैलीस इंडिया की 25 प्रतिशत वृद्धि

समेकित मुख्य बिंदुएं – Q3
रैलीस इंडिया ने 31 दिसंबर 2016 को समाप्त हुई तिमाही के लिए रु. 347 करोड़ ( रु. 325 करोड़) की रेवेन्यू दर्ज की जो 7 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है।  कर-पूर्व लाभ (विशिष्ट वस्तुओं से पहले) रु. 32 करोड़ (रु. 20 करोड़) रहा जो 62 प्रतिशत का इजाफा दर्शाता है; कुल समग्र आय 25 करोड़ रही जो पिछले साल की तुलना में 25 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाती है।

एकल प्रमुख बिंदुएं – Q3
रु.324 करोड़ की रेवेन्यू (रु.300 करोड़) पिछले साल इसी अवधि की तुलना में 8 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाती है।  कर-पूर्व लाभ (विशिष्ट वस्तुओं से पहले) रु. 40 करोड़ (रु. 28 करोड़) रहा जो 47 प्रतिशत का इजाफा दर्शाता है। कुल समग्र आय 34 करोड़ रही जो पिछले साल की तुलना में 21 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाती है।

समेकित मुख्य बिंदुएं – 9 महीने
कंपनी ने 31 दिसंबर 2016 को समाप्त हुई नौ महीने की अवधि के लिए कुल रु. 1,397 करोड़ ( रु. 1,249 करोड़) की रेवेन्यू दर्ज की जो इस अवधि में12 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है।  कर-पूर्व लाभ (विशिष्ट वस्तुओं से पहले) रु. 190 करोड़ (रु. 141 करोड़) रहा जो 35 प्रतिशत का इजाफा दर्शाता है।

इस अवधि के दौरान रु.158 करोड़ के एक्सेप्शनल आयटम सहित लाभ रु. 348 करोड़ (रु. 141 करोड़) रहा जिसमें नवी मुंबई के तुर्भे इलाके के एमआईडीसी में स्थित भूखंड के लीजधारण अधिकार मिलने का लाभ भी शामिल था।

यह लाभ लागतों को निकाल कर है जिसमें निरसित अरबन लैंड (सीलिंग व रेगूलेशन) अधिनियम 1976 के अंतर्गत लगाया गया प्रीमियम शामिल है जिसका विरोध के तहत भुगतान किया गया है।

कुल समग्र आय रु. 265 करोड़ (रु. 112 करोड़) रही।

इस अवधि के दौरान कंपनी ने रु. 19.49 करोड़ के क्षतिपूर्ति के साथ जीरो वेस्ट एग्रो ऑर्गैनिक्स लिमिटेड (ZWAOL) के 10 रु. के बैलेंस 19,421 शेयर खरीदे। परिणामस्वरूप, ZWAOL कंपनी के स्वामित्व वाली एक पूर्ण अनुषंगी इकाई बन गई।

इस निष्पादन और प्रगति पर बोलते हुए रैलिस इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर तथा सीईओ वी शंकर ने कहा, ‘ज्यादार फसलों के रकबे में वृद्धि के साथ पिछले साल की तुलना में उन्नत निष्पादन की घोषणा करते हुए मुझे बेहद खुशी हो रही है। उत्तरपूर्व मानसून, जिसके सामान्य रहने का पूर्वानुमान था, वह केवल 62 प्रतिशत के साथ विदा हुआ जिस कारण दक्षिणी राज्य गंभीर रूप से प्रभावित हुए। इससे धान एवं मोटे अनाजों की बुआई पर असर पड़ा। फिर भी, अच्छी उपज होने की उम्मीद है और रिकॉर्ड उत्पादन होने का पूर्वानुमान किया जा रहा है। समाधानों के हमारे व्यापक पोर्टफोलियो व किसानों के साथ मजबूत संबंधों के कारण इस तिमाही में हमें अपने राजस्व में वृद्धि हासिल हुई है। बाज़ार की चुनौतियों और मूल्यों के दबाव के बावजूद हमार ऑपरेशंस की गुणवत्ता को आधार मिलने का कारण हमारा मजबूत ब्रांड व जमीनी गतिविधियां हैं।

‘हमारे विविध प्रकार के समाधानों ने हमें विविध फसलों, खासकर फलों और सब्जियों में उल्लेखनीय वृद्धि के साथ किसानों की मदद करने में सक्षम बनाया है। हाल ही में उतारे गए उत्पादों पर किसानों की ओर से सकारात्मक अनुक्रिया मिली है। ब्राजील जैसे प्रमुख बाजारों की सुधरी हुई स्थिति तथा हर्बीसाइड्स की मांग में भारी इजाफा के कारण अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय में हमारा निष्पादन पिछले साल की तुलना में लगातार बेहतर हुआ है।

‘कार्यशील पूंजी तथा लागत पर हमारे ध्यान दिए जाने के कारण परिचालन की गुणवत्ता में सतत सुधार हुआ है और साथ ही उच्च नकदी सृजन तथा निम्न वित्तीय लागत हासिल करने में मदद मिली है। रबी के बुआई क्षेत्रफल में वृद्धि के साथ हम रबी फसलों के एक अच्छे मौसम की उम्मीद करते हैं।’