सितम्बर 2017

द्वितीय पेशे में मुकाम हासिल करना

टाटा समूह के सेकंड कैरियर इंस्पायरिंग पॉसैबिलीटीज (SCIP) प्रोग्राम के द्वारा 2008 से अबतक, 1000 से ज्यादा महिलाओं को कॉरपोरेट जगत के कैरियर ब्रेक के बाद वापसी करने में सहायता मिली है। अमित चिंचोलकर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष, समूह मानव संसाधन, टाटा संस, इस अग्रणी प्रयास के बारे में, तथा समूह के D&I एजेंडा को आगे बढ़ाने में इसकी भूमिका के बारे में बात करते हैं।

SCIP को महिलाओं का व्यापक समर्थन मिला और यह इस प्रकार के अन्य कार्यक्रमों के लिए एक उद्यम कीर्तिमान बन गया है। इसकी सफलता के कौन से तत्व हैं?
जब इसे 2008 में शुरू किया गया था, तो SCIP अपनी तरह का पहला कार्यक्रम था जिसमें उन कार्यकारी महिलाओं की जरूरतों को समझा और पूरा किया गया, जिन्होंने कार्यकारी भूमिका में लौटने से पहले एक अवकाश लिया था। समूह की कंपनियों में से इस कार्यक्रम के कई सारे प्रायोजक थे, क्योंकि इसके माध्यम से बेहद उच्चप्रशिक्षित, समर्पित महिला पेशेवरों के समूह की उपलब्धता प्राप्त होती है। अपनी ओर से, समूह की कंपनियों ने ऐसी परियोजनाएं प्रदान कीं जिनके द्वारा उन महिलाओं को एक हद तक लचीली स्थितियां प्राप्त हुईं, जो एक अवकाश के बाद कार्यबल में वापसी कर रही थीं।

इस कार्यक्रम में नामांकित होनेवाले आवेदक को अवकाश पर होना चाहिए और उन्हें किसी अन्य संगठन में पूर्णकालिक आधार पर कार्यरत नहीं होना चाहिए। केवल यही पात्रता है। गत नौ वर्षों में, 1000 से ज्यादा महिलाएं SCIP के अंग के रूप में हमसे जुड़ी हैं और उन्होंने 750 से ज्यादा परियोजनाओं में योगदान दिया है।

SCIP के बाद, कुछ अन्य संगठनों ने भी इसी प्रकार के कार्यक्रम शुरू किए।

SCIP को और ज्यादा सुसंगत बनाने के लिए इसमें वर्षों से सुधार की प्रक्रिया जारी है। SCIP का नया स्वरूप इसके पूर्व के संस्करणों से किस प्रकार भिन्न है?
वर्षों तक प्राप्त अपने अनुभवों से हमें यह पता चलता है कि वे महिलाएं जिन्होंने कैरियर से अवकाश लिया है, न केवल परियोजनाओं के लिए काम करने, बल्कि पूर्णकालिक या परामर्शी भूमिका में काम करने की आशा कर रही थीं, जिसमें उन्हें कार्यावधि या कार्यदिवसों में लचीलेपन की सुविधा प्राप्त हो। समूह कंपनियों की नीतियों में भी इस समय तक सुधार आया है जिससे कार्यावधि में बेहतर लोच की सुविधा प्रदान की जा सकती है।

बदलते हुए समय के साथ ही SCIP के माध्यम से हमारे साथ कार्यरत लोगों के सुझावों को ध्यान में रखते हुए, यह कार्यक्रम अब कई प्रकार के सेकंड कैरियर विकल्प प्रस्तावित करता है, जिसके माध्यम से महिलाएं कार्य पर वापसी, कार्य पर अंशकालिक वापसी का चुनाव कर सकती हैं, या अपनी रुचि के अनुसार पूर्णकालिक आधार पर कार्यबल में वापसी कर सकती हैं।

SCIP में महिला पेशेवरों को तीन जॉब प्रारूपों के तहत सूचीबद्ध अवसर प्रदान किए जाते हैं: परियोजनाएं, परामर्शी भूमिका, तथा पूर्णकालिक भूमिकाएं। कार्यक्रम प्रतिभागियों का मार्गदर्शन तथा निर्देशन किया जाता है, और उन्हें अपने परियोजना निर्देशकों के परामर्श के अनुसार तैयार लचीली कार्यावधि के माध्यम से अपनी प्रगति तय करने की सुविधा दी जाती है।

किस प्रकार SCIP समूह की विविधता तथा समेकन (D&I )एजेंडा को आगे बढ़ाने में सहायक है?
SCIP हमारी D&I प्रतिबद्धता का एक अभिन्न अंग है क्योंकि यह हमारी समूह कंपनियों को इस पोर्टल पर पंजीकृत लगभग 20,000 योग्य महिला पेशेवरों का समूह उपलब्ध कराता है। यह ज्यादा उपयोगी, सुसंगत तथा व्यावहारिक विचारों को समझने में भी सहायक है, जिससे हमारे कार्यस्थल महिलाओं के हमारे साथ सम्मिलित होने, कार्यकारी तथा सफल होने के लिए ज्यादा संवेदनशील, उपयुक्त तथा सहायक बन सकें। हमारा विश्वास है कि ये विचार हमें समूह में हमारी 180,000 महिला सहकर्मियों को प्रतिधारित तथा प्रगतिशील बनाने के माध्यम से कार्य में हमारे लिए सहायक होगी।

टाटा समूह के सेकंड कैरियर इंस्पायरिंग पॉसिबिलीटीज (SCIP) प्रोग्राम के बारे में www.tatasecondcareer.com

पर और ज्यादा जानकारी प्राप्त करें।